Headlines अंतरराष्ट्रीय अन्य अपराध जीवन शैली टैकनोलजी टॉप न्यूज़ दिल्ली फ़ैशन फोटो-गैलरी बिहार ब्रेकिंग न्यूज़ राजनीति राष्ट्रीय

कोरोना पर भारी पड़ा आस्था, अस्तचलगामी सूर्य को संध्या अर्घ्य के साथ छठ का तीसरा दिन समाप्त,एसडीआरएफ टीम ड्यूटी पर तैनात..

दरभंगा सभी नदी तालाबों में जैसे हराही पोखर दिघ्घी गंगा सागर बागमती हरिबोल तालाब इनके अलाबे दर्जनों तालाबों में अस्तचलगामी भगबान भास्कर को अर्घ्य देने लाखो संख्या में श्रद्धालु बिभिन्न घाटों में देखने को मिले बिहार का
प्रशिद्ध छठ को देखने दूर दूर से श्रद्धालु आते है लोगो की मान्यता है की छठ माता सभी की मनोकामना पूर्ण करती है जो भी उनसे कुछ भी मांगता है माता मनोकामना को पूरा करती है..

वहीं श्रद्धालु मित्र नाथ जी का कहना है की भारती संस्कृति में छठ का महत्व बहुत अधिक है बैदिक काल से जो हमें परंपरा मिलती है उसमे छठ का उल्लेख मिलता है की भगबान सूर्य देब जो स्वास्थ के प्रतिक है स्वस्थ के देबता है उनकी पूजा की जाती है और खष्टी तिथि को प्रथम अर्घ्य दिया जाता है इसकी महत्ता सिर्फ बिहार में नहीं है बल्कि बिदेशो में जैसे अमेरिका जापान फ्रांस नेपाल आदि में रहने बाले लोग भी छठ की पूजा बड़े श्रद्धा से मनाते इनका कहना है की हमारे यहाँ उगते एवं डूबता हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है

Advertisement

इनका कहना है की महाभारत में इनका बर्णन बहुत अधिक है द्रौपदी के बारे में कहा जाता है की पहला छठ कुंती और द्रौपदी दोनों ने मिलकर किया इससे पुराने परम्परा भी है की रामायण में देखने को मिला जब राम जी रावण बद्ध एवं लंका बिजय के पश्यचात जब राम लौट रहे थे तब मुदगंद ऋषि ने कहा की रावण बद्ध के कारण जो शाप लगा है उसका प्रायश्चित बाकी है आपका यह शाप मुक्त तभी होंगे जब आप सूर्य को अर्घ्य देंगे तभी से यह परम्परा चला आरहा है घाटके चारो तरफ सुरक्षा का पोख्ता इंतजाम किया गया है NDRF बिहार 9 बतेलियान्न बिहटा पटना की 35 सदस्य टीम एवं दो गोताखोर सभी छठ घाटो पर निगरानी रख रही है

ब्यूरो रिपोर्ट, बिहार नाउ, दरभंगा

Advertisement

Related posts

अपराध पर नियंत्रण को लेकर बनी खास रणनीति ,सभी थानाध्यक्षों के साथ SDPO ने की क्राइम मीटिंग…

Bihar Now

Exclusive : सीवान में अपराधियों ने एक युवक को मारी गोली, इलाज के दौरान मौत…

Bihar Now

फेम इंडिया मैगजीन और एशिया पोस्ट सर्वे के “50 प्रभावशाली भारतीय 2020” की सूची में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी सर्वोच्च स्थान पर…

Bihar Now

एक टिप्पणी छोड़ दो